18 June 2019 04:37 PM

Search
English

जहांगीर अली | 13 MAY, 2019

मासूम बच्ची के साथ बलात्कार से घाटी में भड़का आक्रोश

तीन साल की बच्ची हुई दरिंदगी का शिकार, युवक गिरफ्तार


एक तीन साल की मासूम बच्ची के साथ कथित रूप से हुई बलात्कार की घटना ने घाटी में जबरदस्त आक्रोश भड़का दिया. रविवार को उत्तरी एवं मध्य कश्मीर के विभिन्न इलाकों में इस घटना के खिलाफ हुए विरोध प्रदर्शनों को देखते हुए प्रशासन ने मोबाइल इंटरनेट सेवा स्थगित कर दी.

पिछले सप्ताह उत्तरी कश्मीर के बांदीपोरा में हुई कथित बलात्कार की घटना के खिलाफ घाटी के एक महत्वपूर्ण धार्मिक संगठन, इत्तिहादुल मुस्लिमीन, ने आज बंद का आह्वान किया है.

इत्तिहादुल मुस्लिमीन के अध्यक्ष मौलाना अब्बास अंसारी ने तीन साल की मासूम बच्ची के साथ बलात्कार को “मानवता के नाम पर कलंक” करार दिया.

उन्होंने कहा, “ऐसी कुत्सित मानसिकता वाले लोग सदियों से नैतिक मूल्यों को सहेजने वाले इस समाज पर धब्बा साबित हो रहे हैं. इस किस्म के तत्वों से निपटने के लिए एक साझा रणनीति विकसित करना बेहद जरुरी है.”

पुलिस के मुताबिक, सुम्बल इलाके की तीन साल की एक मासूम बच्ची के साथ कथित रूप से ताहिर अहमद मलिक नाम के एक युवक ने बलात्कार किया. पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.

अधिकारियों को आशंका है कि यह घटना कहीं साम्प्रदायिक रूप न अख्तियार कर ले क्योंकि पीड़िता का संबंध एक अन्य मुस्लिम संप्रदाय से है.घाटी के कुछ शिया बहुल इलाकों में इस घटना को लेकर हुए विरोध प्रदर्शन को इसी संदर्भ में देखा जा रहा है .

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया, “कानून – व्यवस्था की स्थिति को बिगड़ने से बचाने के लिए उत्तरी कश्मीर और मध्य कश्मीर के बडगाम जिले में मोबाइल इंटरनेट सेवा स्थगित कर दी गयी है.”

पीड़िता के गृह इलाके सुम्बल के साथ – साथ राज्य की ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीनगर समेत घाटी के विभिन्न इलाकों में इस घटना के विरोध में प्रदर्शन हुए. अपने गुस्से का इजहार करते हुए प्रदर्शनकारियों ने पीड़िता को जल्द से जल्द न्याय दिलाने और दोषी के लिए सख्त सजा की मांग की.

रविवार को बांदीपोरा के उपायुक्त शाहबाज़ अहमद मिर्ज़ा और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक राहुल मलिक ने सुम्बल इलाके का दौरा किया और मामले की जांच तेज गति से कराने का भरोसा दिलाया.

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री मलिक ने कहा, “ हम आरोपी को पहले ही गिरफ्तार कर चुके हैं. वह सुम्बल के त्रिगम इलाके का है. क़ानून की उपयुक्त धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है और छानबीन जारी है.”

इस घटना से लोगों में जबरदस्त आक्रोश है, कश्मीर के सभी क्षेत्रीय दलों, चाहे वे किसी भी विचारधारा से जुड़े हों, ने इसकी तीखी निंदा की है. उन्होंने मामले की जांच में तेजी लाने और दोषी को कठोर सजा देने की मांग की है.

चौंकाने वाला यह मामला उत्तरी कश्मीर में ऐसी ही एक घटना के कुछ ही हफ्तों बाद सामने आया है, जहां एक युवा लड़की ने अपने पिता द्वारा बार-बार कथित रूप से बलात्कार किए जाने के बाद आत्महत्या कर ली. इस मामले में भी आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है.

पिछले कुछ वर्षों में कश्मीर में महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराधों में तेजी से बढ़ोतरी हुई है. लेकिन सामाजिक कार्यकर्ताओं का कहना है कि घाटी में चल रही उथल-पुथल और कश्मीरी समाज की रूढ़िवादी प्रकृति के कारण इन मामलों पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया जाता.
 

न्यूज़ सरोवर


संबंधित


नागरिक द सिटीजन को स्वतंत्र रखते है सहयोग करें !